किसी भी शिक्षण का मुख्य बिंदु अभिप्रेरणा करना है । अभिप्रेरणा का सिद्धांत शिक्षण के लक्ष्य को निर्धारित करता है । नैतिक, चारित्रिक एवं सांस्कृतिक मूल्यों का विकास की इनमें होता है। अभिप्रेरणा शिक्षार्थी को आंतरिक बल प्रदान करती है जिससे क्रियाशील बना रहता है। 1.पावलव के शास्त्रीय अनुबंधन में—(a) पहले भोजन, इसके बाद ध्वनि उत्पन्न की गयी(b) पहले